अब बिजली का बिल होगा जीरो, सोलर कूलर चलाने के लिए आवश्यक सोलर पैनल और इन्वर्टर, आज ही घर लाएं

WhatsApp Group Join Now

सोलर कूलर चलाने के लिए सोलर पैनल और इन्वर्टर की स्थापना की जाती है, जिसका चयन कूलर की क्षमता और रेटिंग के आधार पर किया जाता है। यदि आपके पास 3 से 4 फिट ऊंचा कूलर है, जिसे चलाने के लिए 130 से 140 वाट बिजली की जरूरत होती है, तो आप 150 वाट के सोलर पैनल का उपयोग कर सकते हैं।

सोलर कूलर का उपयोग न केवल बिजली की बचत करता है, बल्कि यह पर्यावरण के लिए भी लाभकारी है। सही सोलर पैनल, इन्वर्टर, और बैटरी का चयन करके आप अपने कूलर को सोलर एनर्जी से चला सकते हैं और बिजली की कटौती की समस्या से निजात पा सकते हैं।

सोलर इन्वर्टर का सही चुनाव

सोलर इन्वर्टर न केवल बिजली की खपत को कम करता है, बल्कि बिजली कटौती के दौरान भी आपके कूलर को चलाने में सक्षम होता है। इस प्रकार, सोलर कूलर और सही इन्वर्टर का संयोजन एक स्मार्ट और आर्थिक विकल्प है, जो आपको गर्मी से राहत देने के साथ-साथ बिजली बिल में भी बचत करता है।

इन्वर्टर का चयन कैसे करें?

सोलर पैनल से कूलर को संचालित करने के लिए इन्वर्टर का चयन महत्वपूर्ण है। इन्वर्टर पावर सप्लाई को नियंत्रित करता है, जिससे कूलर सुरक्षित रूप से चलता है। यदि आपका कूलर 150 वाट क्षमता का है, तो इसे चलाने के लिए 180 वाट के दो सोलर पैनल लगाए जा सकते हैं। इन पैनलों से उत्पन्न बिजली को नियंत्रित करने के लिए 500 वाट क्षमता का इन्वर्टर जोड़ना आवश्यक है।

सोलर बैटरी का सही चयन

150 वाट के सोलर कूलर को चलाने के लिए 150 Ah की सोलर बैटरी का उपयोग एक आदर्श विकल्प है। इस बैटरी को खासतौर पर सोलर पावर सिस्टम के लिए डिजाइन किया गया है और यह C10 रेटिंग के साथ आती है।

सोलर पैनल से उत्पन्न बिजली को इस बैटरी में स्टोर किया जाता है, जिससे आपका कूलर रात भर बिना रुकावट के चल सकता है। 150 Ah की सोलर बैटरी की कीमत 15,000 से 20,000 रुपये तक हो सकती है, जो इसकी उच्च क्षमता और दीर्घकालिक उपयोग को दर्शाती है। यह बैटरी न केवल आपकी ऊर्जा जरूरतों को पूरा करती है, बल्कि यह पर्यावरण के अनुकूल भी है, क्योंकि यह सौर ऊर्जा का उपयोग करती है।

Read More

PM Surya Ghar Yojana: आता है 3 से 4 हजार बिजली बिल! सोलर पैनल लगाकर बिजली बचाएं

BPL Ration Card: उपभोक्ताओं के लिए बड़ी खबर, इन लोगों को नहीं मिलेगा अबकी बार फ्री राशन

कौन सा पैनल है आपके लिए उपयुक्त

भारतीय बाजार में आज कई ब्रांड के सोलर पैनल उपलब्ध हैं। मुख्य रूप से पालीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का उपयोग अधिक होता है।

पालीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

पालीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल उचित धूप वाले क्षेत्रों में अधिक प्रभावी होते हैं और इनकी कीमत भी कम होती है, जिससे ये बजट-फ्रेंडली होते हैं। दूसरी ओर, मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल एडवांस तकनीक से बने होते हैं और इनकी कीमत अधिक होती है। इनका सबसे बड़ा फायदा यह है कि ये कम धूप वाले क्षेत्रों में भी बेहतर बिजली उत्पन्न कर सकते हैं।

सोलर कूलर की लागत: जानें कितनी होगी कुल लागत

सोलर कूलर को आप ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म से भी खरीद सकते हैं, जिससे आपको बेहतर डील और सुविधाएं मिल सकती हैं। सोलर कूलर की स्थापना की अनुमानित लागत इस प्रकार हो सकती है:

  • सोलर पैनल: 16,000 रुपये (प्रति पैनल, 180-वॉट)
  • इन्वर्टर: 6,000 रुपये (500 वॉट)
  • बैटरी: 15,000 रुपये (150Ah)
  • कुल लागत: 37,000 रुपये

सोलर पैनल की कीमत 16,000 रुपये है, जो 180-वॉट के पैनल के लिए है। 500 वॉट के इन्वर्टर की कीमत 6,000 रुपये है, जो आपके कूलर को सुरक्षित ढंग से चलाने के लिए पर्याप्त है। 150Ah की बैटरी, जिसकी कीमत 15,000 रुपये है, आपके कूलर को रात भर चलाने के लिए पर्याप्त बिजली स्टोर कर सकती है।

अब समय आ गया है कि आप अपने घर को ऊर्जा स्वतंत्र बनाएं और पर्यावरण की रक्षा में योगदान दें। सही सोलर पैनल, इन्वर्टर और बैटरी का चयन करके आप न केवल अपने बिजली बिलों को कम कर सकते हैं, बल्कि एक स्वस्थ और टिकाऊ भविष्य की ओर भी कदम बढ़ा सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now

नमस्ते मेरा नाम नितेश मौर्या है और मैं अपडेट न्यूज का मुख्य संपादक हूँ अपडेट न्यूज एक ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल है जहां पर आपको रोज़ की योजनाओं, पालिटिक्स, बिजनेस इत्यादि से संबंधित ताज़ा खबर एक अपडेट मिलती रहेगी।

Leave a Comment

x